मतविमत

बोली लगेगी 23 सरकारी कंपनियों की,निजीकरण का ज़बरदस्त स्वागत। ~ रविश कुमार

निजीकरण का स्कूली नाम विनिवेश है। विनिवेश बेचने जैसा ग़ैर ज़िम्मेदार शब्द नहीं है। ख़ुद को काम करने वाली सरकार...

Read more

भारत को प्रवासी श्रमिकों के अपने उपचार की समीक्षा करने की आवश्यकता है।

प्रवासी श्रमिक कहानियां अखबारों से लगभग गायब हो गई हैं। COVID-19 के प्रसार या अर्थव्यवस्था को फिर से खोलने के...

Read more

बाज़ारू देशभक्ति की जगह कुछ अच्छे काम की अपेक्षा पूरा देश सत्ताधारी पक्ष से करता है। ~ अपूर्व भारद्वाज

रॉफेल उड़ चुका है..रॉफेल के बहाने कोरोना से कराहता राष्ट्रवाद भी नई उड़ान भरने के लिए लालायित है राम, राफेल...

Read more

रामराज्य की और अवधारणा पर फिर से विचार करने की जरूरत है कि इसमें महिलाओं की स्थिति क्या है। ~ राशि गोयल

जब COVID-19 लॉकडाउन शुरू हुआ, तो सूचना और प्रसारण के केंद्रीय मंत्री, प्रकाश जावड़ेकर ने रामायण के पुन: प्रसारण की...

Read more

सोनू सूद जो काम कर रहा है अगर वो कोई पब्लिसिटी स्टंट या पोलिटिकस हो रहा है तो भी यह अच्छा है ~ नितिन ठाकुर

मुझे पता है कि बहुत सारे पॉलिटिकल पंडित मुझ मूरख को समझाने आएंगे कि सोनू सूद की पॉलिटिक्स क्या है...

Read more

हमें गरीब अच्छे नहीं लगते, लेकिन उनका खाना हम बड़े चाव और गर्व से खाते है। ~ डॉ सुषमा गजापुरे

गरीब की रोटी अमीरों के चोंचले ~ डॉ सुषमा गजापुरे एक समय हुआ करता था जब गरीबों के भोजन में...

Read more

धर्म में पशु या मनुष्य बलि किसी भी धर्म में अंधविश्वास से ज्यादा कुछ नहीं है। ~ ध्रुदिप ठक्कर

मैं मांस नहीं खाता, लेकिन मैं उन लोगों से घृणा नहीं करता जो मांस खाते हैं। एक व्यक्ति को यह...

Read more

नरसिम्हा राव को सही मायने में भारत में आर्थिक सुधारों का जनक कहा जा सकता है: मनमोहन सिंह

नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव की सरकार में वित्त मंत्री रहे मनमोहन सिंह ने शुक्रवार को कहा कि राव...

Read more
Page 1 of 4 1 2 4