Homeजानने लायकक्या रसोई के कचरे से पैसा बनाना संभव है?

क्या रसोई के कचरे से पैसा बनाना संभव है?

सब्जियों से खराब जैविक कचरे से बायो गैस बनाकर लाखों कमाए जा सकते हैं। एक अभिनव प्रयोग द्वारा सूरत, गुजरात में खराब सब्जियों से गैस बनाकर गुजरात गैस कंपनी (Gujarat Gas Company) को आपूर्ति की जा रही है। इस नए प्रयोग से प्रदूषण और जैविक कचरे से भी छुटकारा मिल रहा है। बायोगैस उन चीजों से बनाया जाता है जिनमें एक विघटित शक्ति होती है, मतलब की जो चीज सड शक्ती हो। फिर वो रसोई का कचरा हो या पेड़ या किसी पौधे की पत्तियां …इसके जरिए बायोगैस को जैविक कचरे से आसानी से बनाया जा सकता है। अपघटन से गैस हवा में फैल जाती है, जबकि बायोगैस व्यर्थ गैस का उत्पादन किया जा शकता है।

सूरत एपीएमसी खराब सब्जियों से गैस बनाने वाली देश की पहली APMC है। खेतीबाड़ी उत्पादन बाजार समिति को गैस से लाखों में कमाई हो रही है। हर रोज 40 से 50 टन खराब सब्जियों, फलों से गैस बन रही है। एपीएमसी गुजरात गैस को रोजाना 5100 scm बायो CNG की बिक्री कर रही है। इसके लिए सूरत एपीएमसी और गुजरात गैस कंपनी के बीच समझौता हुआ है जिसके तहत अंतर्राष्ट्रीय बाजार की कीमतों पर गैस की बिक्री होती है।

हररोज १००० क्यूबिक मीटर गेस का उत्पादन

सूरत APMC के चेरमैन रमण जानी ने बताया कि इस प्लान में हर दिन 50 टन वेस्ट प्रोसेस हो रहा है और हर दिन १००० क्यूबिक मीटर गैस का उत्पादन हो रहा है। उन्होंने कहा की गुजरात गैस कंपनी के साथ हमने एमओयू किया है और जो भी उत्पादन होता है वो गुजरात गैस कंपनी की लाइन में चला जाता है।

कैसे घर पर भी बनाया जा शकता है बायो -गैस प्लांट

किचन वेस्ट से बायोगैस यदि घर में बनाना है तो उसके लिए प्लास्टिक का एक ड्रम लें और उसमें एक या दो दिन थोड़ा गोबर डाल दें। इस ड्रम को 20 से 25 दिन के लिए ढंककर रख दें इसके ढक्कन में एक छोटा छेद रखें, जिसमें से आप किचन वेस्ट उसमें डाल सकें। किचन वेस्ट डालने के बाद एक छड़ से उसे मिलाकर उस छेद को बंद कर दें।

5-7 मिनट के लिए इस छेद को खुला रख सकते हैं, लेकिन ज्यादा देर खुला रखने पर गैस बाहर चली जाएगी। इस ड्रम में दो अन्य छेद भी रखें। एक छेद में पाइप डालकर उसे स्टव से जोड़ें, जिससे आप खाना पका सकें और दूसरे छेद से अतिरिक्त खाद बाहर निकल जाएगी। इसका इस्तेमाल बगीचे या खेत में किया जा सकता है। एक घर से निकलने वाले 1 हजार किलो किचन वेस्ट से 90 घन मीटर बायोगैस बन सकती है, जो कि 35 किलो एलपीजी गैस के बराबर होती है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments